ITI Most Important Occupational Health and Safety Theory

ITI Occupational Health and Safety Theory most important example in Hindi for its candidates in this chapter we learn about workplace safety and security’s important terms and how to implement it.

Occupational Health and Safety

सुरक्षा एवं स्वास्थ्य से अभिप्राय व्यवसायिक कार्यों में कार्यरत श्रमिकों के कल्याण स्वास्थ्य सुरक्षा से है कार्यक्षेत्र में श्रमिकों को शारीरिक व मानसिक क्षति से बचाना व्यवसायिक सुरक्षा कहलाता है जीवन एक अमूल्य निधि है इसकी सुरक्षा के लिए सावधानी आवश्यक है और सावधानी व अज्ञानता वश किसी भी कार्य क्षेत्र में मनुष्य दुर्घटना का शिकार हो जाता है यदि कार्य करते समय हम सावधानी को प्राथमिकता दें तो दुर्घटनाओं को कम किया जा सकता है

आइए सुरक्षा से जुड़े कुछ तथ्य को जानते व समझते हैं

निम्न कारणों से दुर्घटनाएं हो सकते हैं |

  1. औजार उपकरण मशीन तथा कार्य करने के तरीकों का पर्याप्त ज्ञान ना होना |
  2. जानकारी ना होने पर भी मशीनों को चलाना |
  3. सामर्थ्य से अधिक मेहनत करना |
  4. कार्य में रुचि ना होना |
  5. कार्य को जल्दी करने की उत्सुकता |
  6. कार्यस्थल का वातावरण सही नहीं होना |
  7. उचित वेशभूषा का प्रयोग ना करना |
  8. उचित हजार उपकरणों व मशीनों का अभाव |
  9. कार्य करते समय अनुशासनहीनता करना |
  10. घरेलू तनाव होना |

निम्न सावधानियां को ध्यान में रखकर हम दुर्घटना से बचाव कर सकते हैं |

  1. विद्युत से संबंधित कार्य शुरू करते समय आपके मन की एकाग्रता कार्य के तरफ बनी रहनी चाहिए
  2. सुरक्षात्मक चिन्हों के चिन्ह को पोस्टर के रूप में लगाएं
  3. प्राथमिक उपचार व आग बुझाने का ज्ञान पूर्ण रूप से होना चाहिए
  4. रबड़ के जूते पहने बिना कार्यशाला या जहां भी विद्युतीय कार्य करना हो वहां ना जाएं
  5. जूता सदैव बिना कील वाले पहने
  6. सुरक्षा चिन्हों व सुपरवाइजर के दिए निर्देशों की पालना अवश्य करें
  7. अपने नजदीक के डिस्पेंसरी व नर्सिग होम व थाने का टेलीफोन नंबर डायरी में अवश्य नोट करें
  8. अपने नजदीक का विद्युत सब स्टेशन कहां स्थित है इसकी जानकारी अवश्य रखें
  9. अपनी कार्यशाला में विद्युतीय कंट्रोलिंग डिवाइस जैसे मेन स्विच सर्किट ब्रेकर आदि का ध्यान रखें
  10. कार्यस्थल पर पहने जाने वाले वस्त्र ना अधिक ढीले होना ही अधिक कसे हुए हो जिससे कार्य करते समय परेशानी ना हो
  11. मेन स्विच को सदैव बंद करके फ्यूज निकालकर ही उस लाइन पर कार्य करें
  12. जेब में किसी प्रकार का नुकीला औजार न रखे
  13. ऊंचाई पर कार्य करते समय सीढ़ी का प्रयोग कर रहे हो तो चिकने फर्श पर नीचे कोई टाट या कपड़ा बिछाए बिना हेल्पर के अकेले सीढ़ी पर ना चढ़े एवं हेल्पर का ध्यान सीढ़ी को पकड़ने की तरफ ही रहे
  14. कार्यशाला में बिना अनुमति किसी भी उपकरण अथवा मशीन को हाथ न लगाएं
  15. कार्यशाला में लगी हुई मशीन पैनल की देखभाल प्रतिदिन अवश्य करें
  16. कार्यशाला में कार्य करते समय किसी भी ऐसे तार को हाथ न लगाएं जिनसे इंसुलेशन हट गया हो
  17. विद्युत यंत्रों मशीनों पर खतरे का चिन्ह अवश्य लगाएं
  18. प्रत्येक मशीन के पास उस मशीन की दूरघटनाओं से संबंधित सावधानियों का चार्ट अवश्य लगाएं
  19. प्रत्येक कार्यशाला में प्राथमिक उपचार का चित्र अवश्य लगाएं
  20. आग बुझाने की रेत से भरी बाल्टी या आग बुझाने के यंत्र सही स्थान पर रखें
  21. प्रत्येक कार्यशाला उद्योग घरों घर में मेन स्विच ऐसे स्थान पर लगाएं जहां इलेक्ट्रिशियन या अन्य व्यक्ति आसानी से पहुंच सके
  22. किसी भी मशीन को हाथ लगाने से पूर्व अर्थिंग दोष अवश्य चेक करें
  23. प्रत्येक औजार को टूल किट में ही रखें

सुरक्षा चिन्ह कितने प्रकार के होते हैं

safety signs and symbols (सुरक्षा चिन्ह)

सुरक्षा के लिए कई चिन्हों का प्रयोग किया जाता है जो निम्न है –

  1. निषेधात्मक चिन्ह (Prohibitory signs)
  2. चेतावनी चिन्ह (Warning signs)
  3. आदेशात्मक चिन्ह (Mandatory signs)
  4. सूचनात्मक चिन्ह (Informative signs)

निषेधात्मक चिन्ह (Prohibitory signs)

यह चिन्ह गलत कार्यों के लिए मनाही का संकेत देते हैं यह चिन्ह गोलाकार होते हैं इन चिन्हों में बॉर्डर तथा लाल रंग का क्रॉस बना होता है उनकी पृष्ठभूमि सफेद होती है वह ऊपर काले रंग का संकेत चिन्ह बना होता है

उदाहरण :-


उदाहरण ध्रूमपान ना करना आग ना जलाना

चेतावनी चिन्ह (Warning signs)

इन चिन्हो के द्वारा आने वाले खतरे की चेतावनी दी जाती है जैसे बिजली के झटके आग का भय इनका आकार त्रिकोण होता है इनके पृष्ठभूमि पीले रंग की होती है तथा संकेत चिन्ह तथा बॉर्डर काले रंग का होता है

उदाहरण:-

आदेशात्मक चिन्ह (Mandatory signs)

इन चिन्हो के द्वारा कार्य स्थल पर जरूरी आदेश दिए जाते हैं इनका आकार गोलाकार होता है इनके पृष्ठभूमि नीली होती है जिसके ऊपर सफेद रंग का चिन्ह छाया होता है
दस्ताने टोपी चश्मा जूते मास्क पहनने का आग्रह करते हैं

उदाहरण:-

सूचनात्मक चिन्ह (Informative signs)

इन चिन्हों के द्वारा सुरक्षा संबंधित जानकारी दी जाती है इनका आकार वर्गाकार होता है इनकी पृष्ठभूमि हरे रंग की तथा संकेत चिन्ह सफेद रंग होते हैं

उदाहरण :-

  • Motor Star and Delta Connection Hindi
    हम किसी भी थ्री-फेज मोटर का कनेक्शन करते हैं तो हम दो तरीके से करते हैं या तो हम उसको स्टार कनेक्शन Star Connecion में जोड़ेंगे या फिर हम उसको … Read more
  • DGT AITT CITS Supplementary Exam Time Table 2024
    DGT has released the AITT CITS Supplementary exam schedule 2024 according to which the registration will start from 29/01/2024 talking about the exam, the engineering drawing exam will start from … Read more
  • Underground Cable Classification and Types
    आज के पोस्ट में हम जानेगे की केबल कितने प्रकार के होते है और उनका क्या प्रयोग है और भूमिगत केबल के लाभ और हानि के बारे में भी जानेगे … Read more
  • JEECUP Entrance Exam cones, and spheres Mock Test
    JEECUP online MCQs Mock Test of Important chapter cones, and spheres (शंकु, और गोला) Online CBT Exam Mock Test for UP Polytechnic Entrance Exam
  • UP Polytechnic cubes, cuboids, cylinders Mock Test
    UP Polytechnic Entrance Exam 2024 Mensuration Important Chapter cubes, cuboids, cylinders (घन, घनाभ, सिलेंडर) Online CBT Entrance Exam 100% Free mock Test

Comments are closed.