Most Important Effects of Electric Current

There are many effects of electric current, out of which the Heating (thermal) effect, Electric current effect on human body & chemical effect of electric current, magnetic effect of electric current, lighting effect of electric current special rays effect of electric current

Effects of Electric Current

Electric Current Heating Effect

जब किसी चालक में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो यह कुछ ऊष्मा उत्पन्न करती है इसका कारण यह होता है कि धारा को प्रवाहित करने में कुछ ऊर्जा व्यय होती है यह ऊर्जा उस्मा के रूप में प्रकट होती है

विद्युत ऊर्जा का उष्मीय ऊर्जा में यह परिवर्तन इलेक्ट्रॉनों के चालक में प्रवाह के समय अणुओ के टकराने से होता है

इस प्रभाव के कारण मोटर का गर्म होना व इसका प्रयोग हीटर, विद्युत प्रेस, गीजर, थर्मल रिले, विद्युतीय भट्टियों में देखने को मिलता है

उस्मा का सूत्र, H=I2Rt जूल से गणना की जाती है

उष्मा से वोल्टेज यदि वस्तुओं को विभिन्न टुकड़े जैसे लोहा व तांबा के सिरों को आपस में लपेट दिया जाए तथा आगे के सिरों को गर्म किया जाए तो तार के सिरों पर वोल्टता उत्पन्न होगी यह तापयुग्म (थर्मोकपल) कहलाते हैं इनका प्रयोग ताप मापन के लिए भट्टियों में किया जाता है पायरोमीटर से भी ताप मापते है

Chemical effect of Electric current

  1. विद्युत जब अम्ल नमक व क्षारो के घोल से गुजारी जाती है तो विद्युत उनके अणुओ को विभक्त कर देता है
  2. रासायनिक विधि द्वारा विद्युत को इकट्ठा किया जाता है
  3. ऐसी बैटरीया जिन्हें चार्ज किया जाता है उसमें डीसी को इकट्ठा किया जाता है व डिस्चार्ज के रूप में उपयोग किया जाता है
  4. रासायनिक प्रभाव द्वारा इलेक्ट्रोप्लाटिंग की जाती है

Magnetic effect of Electric Current

ऑरेस्टडे वैज्ञानिक ने करंट ले जा रहे चालक के पास चुंबकीय सुई रखकर उसके घूमने की प्रवृत्ति से यह परिणाम निकाला कि चालक मै से जब करंट गुजरती है तो वृत्ताकार में चुंबकीय रेखाएं चलना प्रारंभ कर देते हैं
इलेक्ट्रोमैग्नेट अर्थात विद्युत चुंबक इसी प्रभाव पर कार्य करते हैं विद्युत मशीनें,मोटर, इसी आधार पर कार्य करती हैं जैसे पंखे, अल्टरनेटर, 3 फेज मोटर, ट्रांसफॉर्मर, यंत्र आदि

Lighting effect of Electric Current

विद्युत की उचित धारा को जब किसी लैंप के फिलामेंट से गुजारा जाता है तो यह रोशनी बिखेरने लगते हैं इसे धारा का प्रकाशीय प्रभाव कहते हैं फ्लोरोसेंट ट्यूब लैंप सीएफएल नियॉन लैंप कार्बन लैंप इसके उदाहरण है

Electric current effect on Human Body

मानव शरीर में विद्युत धारा के गुजरने पर शरीर की आते व नशे सिकुड़ जाती हैं और जीवित शरीर को झटका महसूस होता है
शरीर यदि सूखा है – प्रतिरोध 70,000 ohm/sqcm से 1,00,000 ohm/sqcm
शरीर यदि गीला है – प्रतिरोध 700ohm/sqcm से 1000 ohm/sqcm
अधिक वोल्टेज 200 मिली एंपियर से अधिक धारा चलता है वह शरीर की बाहरी चमड़ी को जला देता है

यह भी पढ़ें

  • Motor Star and Delta Connection Hindi
    हम किसी भी थ्री-फेज मोटर का कनेक्शन करते हैं तो हम दो तरीके से करते हैं या तो हम उसको स्टार कनेक्शन Star Connecion में जोड़ेंगे या फिर हम उसको डेल्टा[…]
  • Underground Cable Classification and Types
    आज के पोस्ट में हम जानेगे की केबल कितने प्रकार के होते है और उनका क्या प्रयोग है और भूमिगत केबल के लाभ और हानि के बारे में भी जानेगे भूमिगत[…]
  • PNP Transistor क्या है? व्याख्या, कार्य सिद्धांत
    ट्रांजिस्टर इलेक्ट्रॉनिक सर्किट में मूलभूत उपकरण हैं, जो प्रवर्धन, स्विचिंग और सिग्नल मॉड्यूलेशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विभिन्न प्रकार के ट्रांजिस्टर के बीच, पीएनपी ट्रांजिस्टर का व्यापक रूप से इलेक्ट्रॉनिक[…]
  • वोल्टेज ड्रॉप फॉर्मूला – परिभाषा, समीकरण, उदाहरण
    विद्युत प्रणालियों में वोल्टेज ड्रॉप (Voltage Drop in Hindi) एक महत्वपूर्ण तथ्य है जिसे अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। यह वोल्टेज में कमी को दर्शाता करता है जो तब होता[…]
  • How to Test PNP and NPN Transistors
    मल्टीमीटर का उपयोग करके NPN (Negative-Positive-Negative) और PNP(Positive-Negative-Postivie) ट्रांजिस्टर का परीक्षण किया जा सकता है। दोनों प्रकार के ट्रांजिस्टर के परीक्षण के लिए सामान्य चरण यहां दिए गए हैं: NPN ट्रांजिस्टर[…]
Scroll to top