Different types of lines in Engineering Drawing

Engineering drawing lines types Lines are used to make drawings, but in Engineering Drawing, 12 to 15 Types line all the lines used to make drawings are proposed by the Bureau of Indian Standards (BIS), these different types of lines are used for different operations of the object and textures are displayed in Hindi.

line in Engineering Drawing and their uses

Types of line in Engineering Drawing According to BIS

According to Bauru of Indian Standard (BIS) Based on IS 10714 (Part 20): 2001/ISO 128-20:1996, IS 10714 (Part 21): 2001/ ISO 128-21 :1997, ISO 128-22 : 1999, ISO 128-23 : 1999 and ISO 128-24 : 2014

TypeDescription General ApplicationsLines
Type – AContinuous ThickA1 Visible Outlines, Object Outline
A2 Visible Edges, Object Lines
View Line
Type – BContinuous Thin (Straight or Curved)B1 Dimension Lines
B2 Extension Lines or Projection Lines
B3 Imaginary Lines of Intersection
B4 Hatching
B5 Leader Lines
B6 Diagonal Lines
B7 Thread Lines
B8 Short Centers Lines
B9 Outlines of Revolved section in Place
View Line
Type -CContinuous Thin Free HandC1 Limit of Partial or Interrupted Views and section, if the limits is not a Chain Thin
View Line
Type – DContinuous Thin (Straight) with Zig – ZagsD1 LinesView Line
Type – EDashed ThickE1 Hidden Edges
E2 Hidden Outlines
View Line
Type – FDashed ThinF1 Hidden Edges
F2 Hidden Outlines
View Line
Type – GChain ThinG1 Lines of Symmetry
G2 Center Line
G3 Trajectores
View Line
Type – HChain thin, Thick at ends and changes of DirectionH1 Cutting PlainView Line
Type – JChain ThickJ1 Indication of Line or Surface to which a special Requirement appliesView Line
Type – KChain Thin Double DashedK1 Centroidal Lines
K2 Outlines of Adjacent Parts
K3 Parts Situated in Front of the Cutting Plane
K4 Alternative and Extreme Position of Movable Parts
K5 Initial Out Lines Prior to Forming
View Line

Types of lines (लाइन के प्रकार)

भारतीय मानक के अनुसार 10 प्रकार की रेखाओं का इंजीनियरिंग ड्राइंग में उपयोग किया जाता है जिनमें से प्रथम चार प्रकार की रेखाएं (A से D प्रकार की) सतत (Continuous)मोटी तथा पतली होती हैं|

बाहरी रेखा (Outline)

Outline

यह A प्रकार की रेखा होती हैं, इनका उपयोग दर्शित बाहरी रेखाओ (Visible Out Line) तथा किनारों (Edges) को बनाने में किया जाता है इन्हें वस्तु रेखा (Object Line)भी कहते हैं|

विमांकन रेखा (Dimension Line)

Dimension Line

यह B1 प्रकार की रेखा होती हैं, यह पतली तथा सतत रेखा होती है इनके दोनों छोर पर एक्सटेंशन रेखा को स्पर्श करते हुए एरो हेड बनाए जाते हैं इस प्रकार की रेखाओं का उपयोग इंजीनियरिंग ड्रॉइंग की बीमा को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है|

1. लीडर रेखा (Leader Line)

यह B1 प्रकार की रेखा होती हैं, इन्हें तीन प्रकार से प्रदर्शित किए जा सकते हैं

  1. एक बिंदु के साथ
  2. तीर के साथ
  3. बिंदु के बिना या तीर शीर्ष के साथ

2. हैचिंग लाइन (Hatching Line)

यह B4 प्रकार की रेखा होती हैं, इस प्रकार की रेखाएं तिरछी समानांतर होते हैं इन रेखाओं के मध्य की दूरी को कम से कम उस ड्राइंग की सबसे मोटी रेखा से दुगनी होनी चाहिए एवं 0.7 मिली मीटर से कम किसी अंतराल में नहीं होनी चाहिए|

शॉर्ट ब्रेक लाइन (Short Break Line)

यह C1 प्रकार की रेखा होती हैं, यह रेखा पतली सतत तथा मुक्त हस्त वक्र रेखा है जिसके द्वारा किसी ऑब्जेक्ट को की अनियमित बाउंड्री व उसकी ड्राइंग को कम दूरी तक तोड़ कर दिखाया जाता है|

लॉन्ग ब्रेक लाइन (long break line)

यह D1 प्रकार की रेखा होती हैं, यह पतली सतत रेखा दो या तीन जगहों पर ज़िग ज़ैग आकार में बनी हुई होती है इसका उपयोग ऑब्जेक्ट के किसी लंबे भाग को ड्राइंग में कम स्थान में दिखाने के लिए किया जाता है|

बिंदुकित अदृश्य रेखा (Dotted Hidden Line)

यह E2 अथवा F2 प्रकार की रेखा होती हैं, इसका उपयोग ड्राइंग में ऑब्जेक्ट के छुपे हुए भाग को दर्शाने मैं किया जाता है|

केंद्र रेखा (Centre Line)

यह G2 प्रकार की रेखा होती हैं, इसका उपयोग वृत्ताकार वस्तुओं या वृत्त आदि के केंद्र प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है इसे एक क्रमशः लंबे ड्रेस तथा एक छोटे ड्रेस को खींचकर बनाया जाता है|

Thickness of Engineering Drawing Lines

रेखाओं की मोटाई का चयन ड्राइंग के प्रकार तथा नाप के अनुसार 0.18 0.25 0.35 0.5 0.7 1.4 तथा 2 मिलीमीटर की परास में किया जाता है एक ड्राफ्ट्समैन द्वारा 0.5 मिलीमीटर परास की रेखाओं का अधिक उपयोग किया जाता है|

वृत्त के केंद्र को प्रदर्शित करने के लिए किस प्रकार की लाइन का प्रयोग किया जाता है?

वृत्त के केंद्र को दर्शाने के लिए केंद्र रेखा (center line) का उपयोग किया जाता है?

इंजीनियरिंग ड्राइंग में लीडर लाइन का उद्देश्य क्या है?

एक लीडर लाइन का उपयोग किसी नोट या लेबल को ड्राइंग पर किसी विशिष्ट भाग से जोड़ने के लिए किया जाता है, जो मुख्य दृश्य को अव्यवस्थित किए बिना अतिरिक्त जानकारी या स्पष्टीकरण प्रदान करता है।

आप विज़िबल रेखाओं और हिडन रेखाओं के बीच अंतर कैसे पहचानेगे?

विज़िबल रेखाओं उन किनारों या विशेषताओं का दर्शाती हैं जिन्हें वर्तमान दृश्य में देखा जा सकता है, जबकि छिपी हुई रेखाएँ उन विशेषताओं का प्रतिनिधित्व करती हैं जो दिखाई नहीं देती हैं लेकिन दृश्य सतहों के पीछे मौजूद होती हैं।

विस्तार रेखाओं और आयाम रेखाओं का उद्देश्य क्या है?

विस्तार रेखाओं का उपयोग किसी आयाम की सीमाओं को इंगित करने के लिए किया जाता है, जबकि आयाम रेखाएं वास्तविक माप को निर्दिष्ट करती हैं। साथ में, वे स्पष्ट और सटीक आयाम संबंधी जानकारी प्रदान करते हैं।

  • ITI AITT CITS Important Engineering Drawing Model Paper 2023
    Latest Model Paper of Engineering Dawing According to the latest NIMI Pattern Most Important Question and with Solve for ITI Engineering Drawing. All India Trade Test of Craftsmen, Model Paper Set – 1 ENGINEERING DRAWING इंजीनियरिंग ड्राइंग First Year (प्रथम वर्ष) – 2023 Q1. Print 10mm Single Stroke capital letters and numerals in inclined style. … Read more
  • Important Engineering Drawing Symbols Graphics
    Engineering Drawing Symbols for Drawing Students according to BIS Rule 46-2003 all symbol used in all types technical drawing Sector Like – Engineering Diploma ITI etc. this Symbols also used for Engineering Graphics. Rivet Joints Convection Symbols Description View in Drawing 1st Angle 3rd Angle Rivet or Bolt to fit on site Rivet General Rivet … Read more
  • Engineering Drawing Question Paper in Hindi
    Most Important Engineering Drawing Question Paper 2022 for ITI Introduction of Engineering Drawing Question answer all Question are Important for ITI CBT Exam Engineering Drawing Question Paper with Answer
  • Conventional Representation of Materials in ED
    Engineering Drawing Perfection is based on representations Representation of a large object, sentence or action as a sign is called a convention. These conventions have been approved by ISI by IS 696 – 1972 Materials Conventions Representation Symbol According to IS 696 – 1972 Materials Convention or Symbol SteelCast IronCopper and its alloysAluminum and its … Read more
  • कोणों के कितने प्रकार होते हैं Types Of Angles in Hindi
    ज्यामिति में माप के आधार पर विभिन्न प्रकार के कोण होते हैं। Types Of Angles in Hindi मूल कोणों के नाम हैं न्यून कोण, अधिक कोण, समकोण, सीधा कोण, प्रतिवर्त कोण और पूर्ण घूर्णन। एक कोण ज्यामितीय आकार होता है जो दो किरणों को उनके अंत-बिंदुओं पर मिलाने से बनता है। कोण को आमतौर पर … Read more

Comments are closed.